प्रदेश के सेब बागवान और अन्य फलों के उत्पादन से जुड़े बागवान 2 जनवरी 2019 से  Dr YS Parmar University of Horticulture and Forestry  नौणी जिला सोलन से पौधों की नर्सरी को ले जा सकते है । इस बार...
हिमाचल वैसे भी पर्यटकों का घूमने के लिए मनपसंद स्थान रहा है । अभी तक पर्यटक यहां बर्फ, या पहाड़ देखने आते रहे है । ( साथ में जुड़े फोटो को जरूर देखें ) सेब बागवानी एक उद्योग के रुप...
जहां बर्फ सेब बागवांनी के लिए वरदान साबित होती है वहीं सेब बागवानों द्वारा बगीचे में सेब की पत्तियों को जलाना खतरनाक साबित हो रहा है । और ये ऐसे समय मे हो रहा है जब लगभग हर बागवान सोशल...
हिमाचल प्रदेश बागवांनी विकास परियोजना के अंतर्गत हिमाचल में बागवानों को अमेरिका से सेब की विभिन्न किस्मे मिल सकती है । अभी तक हिमाचल में सरकारी स्तर पर इटली से आयातित किस्मे ही मिल पाती थी । विश्व बैंक...
बागवांनी को अगर आधुनिक तकनीक को सीखकर किया जाए तो यह मुनाफे का सौदा है । बहुत से किसान बागवान देश भर से इस वाक्य पर खरे उतर रहे है । किसान बागवान वहाँ धोखा खा जाते है जब वो...
सेब बागवानी का कौन दुश्मन बनेगा ? और जब ये भयानक समस्या बन कर उभरेगी उस समय किस पर इसका ठीकरा फूटेगा । सब पढ़े लिखे है, फिर बेवकूफ कौन ? आप भी बागवान है आप भी समझें और अपने...
प्राकृतिक खेती से बदलती दशा और दिशा । पहल एक सरकारी कार्यक्रम की ही रहेगी, या फिर वास्तविक
हिमाचल प्रदेश बागवानी विकास परियोजना के तहत matching grant स्कीम में आवेदन मंगाए जा रहे है । आवेदन की अंतिम तिथि 26 दिसंबर 2019 है । Matching grant स्कीम का उद्देश्य बागवानी में उद्यमियों को आगे लाने का है...
पहले आयात किया जाएगा, फिर इसे नौणी विश्वविद्यालय में लगाया जाएगा, उसके बाद जांच परख करके इसे 2 या 3 साल बाद बागवानों को दिया जाएगा ।
मंडियों में कीचड़, गंदगी, अव्यवस्था, ट्रैफिक जाम, चालू आढ़ती/ लदानी, प्रति पेटी आढ़ती की चूंगी, कोई बाजार स्थाईत्व नहीं, बागवानों का शोषण और भी न जाने कितनी अनन्त समस्याओं से बागवान गुजरता है, ये उसे ही खबर है । बाकी...
किसानों को उनकी फसल का सही मूल्य घर द्वार पर मिले ये बहुत अच्छी पहल है । इसमें ध्यान देने वाली बात यह है कि जायका प्रोजेक्ट के तहत चलाई जाने वाली पहल किसी कंपनी के लिए ही न...
सेब बागवांनी संगठित प्रयास से ही कामयाब है ।
नियम तो बने है, पर धरातल पर नही उतरते, या तो अधिकारियों तक ही सीमित है या फिर कुछ अधिकारियों के ही हिसाब से चलते है । खामियाजा आम किसान .... कब तक
हिमाचल एक बागवानी प्रदेश के रूप में विकसित हो रहा है । प्रदेश पूरे देश मे सेब उत्पादन पर जम्मू कश्मीर के बाद दूसरे स्थान पर है । बागवानी को एक समृद्ध उद्योग के रूप में विकसित करने के...
- Advertisement -

Recent Posts