बदलते मौसम में बदलते किसानों के दुश्मन
सुरक्षा के लिहाज से जारी देशव्यापी कर्फ्यू में किसान बागवान के लिए जरूरी सभी सेवाओं को अनिवार्य किया गया ।
धीरे धीरे, कहीं इंसानी दखल से कहीं देखरेख के अभाव में, दुनिया से बहुत सारी प्रजातियां विलुप्त हो गई है और होने जा रही है । जटामासी,ब्रह्मकमल जैसी...
सेब का भविष्य तय करेगी । गांव, पंचायत या इससे बड़े स्तर पर किसान बागवान समितियों के संगठित प्रयास से ही ये सब संभव है । किसान तब तक ही जिंदा है जब तक वो संगठित है । #javikkheti #organicfarming #naturalfarming...
अपने सेब बागीचों में धुआं लगाकर कोई भी कसर न छोड़ें, क्योकि बाद में किसी दूसरे को दोष देने के इलावा कुछ नहीं बचेगा । बड़े और छोटे...
मंडियों का समय के हिसाब से आधुनिकीकरण बहुत जरूरी है , इसके प्रबंधन से जुड़े साथ मे ये पहलू भी होने बहुत जरूरी है . मंडियों में व्यापार करने वाले आढ़तियों को...
हिमालय से जुड़ा क्षेत्र जिसमेंं जम्मू, कश्मीर, उतरांचल और हिमाचल प्रदेश मुख्य प्रदेश है , पिस्ता की व्यव्साईक खेती के लिए अनुकूल है ।
प्लांट ग्रोथ रेगुलेटर सेब के भविष्य के लिए कितना सार्थक है । हो सकता है इसके दूरगामी प्रभाव सकारात्मक और नकारात्मक हो सकते है जब तक कि इसे यहां की परिस्थिति के हिसाब से न परखा जाए...
किसी भी सरकारी योजना को अधिकारी ही आम किसान बागवान तक पहुचाता है । और देखने मे ये आया है कि सरकारी योजनाएं नाम की रह जाती है फोटो खिंचाने तक...
किसानों बागवानों को धोखाधड़ी से बचा पाएगा, फेसिलिटेशन एंड प्रोमोशन बिल 2019
किसान संगठनों से किसानों को ताकत मिलती है, उनका शोषण रुकता है, और उन्हें आधुनिक तकनीक से आगे बढ़ने में सामर्थ मिलता है । #miorcharddiary #himachalapple #appleorchard #progressivegrower #farmerproduceorganisation @icar @agoi
सेब या अन्य किसी प्रजाति का आप बगीचा लगा रहे है, तो कलमें आप पंजीकृत नर्सरी विक्रेता से ही ले । सोशल मीडिया पर सेल की धूम मची है । कृपया किसी झांसे में आने से बचे ।
परदा है परदा ।
गाय पर आधारित कृषि के इस तरीके में है तो बहुत सारी संभावनाएं ।
विदेशी सेब के पौधों के नाम पर इस बार 2019-20 मे कई बागवानों को कई बागवानों ने खूब लूटा । विभाग बागवांनी विकास परियोजना के अंतर्गत प्रयास तो कर रहा...
- Advertisement -

Recent Posts