खेती बागवानी मजदूर आश्रित होती हुई

0
360
सोशल मीडिया पर डायरी शेयर करें

बागवानी आज मजदूर और मशीन आधारित है । मजदूर के पंजीकरण और उनकी स्थिति का कोई भी अधिकारी रिकार्ड नहीं है । मजदूरी के नाम पर बाहरी राज्यों से हिमाचल में लगातार लोगों का आगमन हो रहा है , जो यहां के वातावरण और बाजार को गैरकानूनी तौर पर बहुत प्रभावित कर रहे है । स्थानी य स्तर पर व्यवसाय और मजदूरों का पजीकर्ण बहुत जरूरी है ।

Like Us

सोशल मीडिया पर डायरी शेयर करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here